Raaz Shayari Hindi

Raaj Shayari Hindi

Kuch raaj raaj hy rehne do

कुछ राज़ राज़ ही रहने दो... ये अलफ़ाज़ अलफ़ाज़ ही रहने दो.
जज़्बात बयां हो गये तो मुश्किल होगी, इन्हे बस ल-इलाज़ रहने दो...!

Dil की हर बात ज़माने को बता देते है
 अपने हर "Raaz"  से परदा उठा देते है
Chahane वाले हमे चाहे या ना चाहे
  हम  जिसे चाहते है उस पर जान Luta देते है...

हर धड़कन में एक राज़ होता है,
बात को बताने का एक अंदाज़ होता है,
जब तक ठोकर न लगे बेवाफ़ाई की,
 हर किसी को अपने प्यार पर नाज़ होता है

शब्दों से ही दिलो पर राज किया जाता है..
चेहरे का क्या है किसी भी हादसे मे बदल सकता है..
www.meridileshayari.in