Mitti Shayari Hindi

Mitti Shayari Hindi

watan ki mitti shayari, shayari on mitti photo,mitti par shayari,mitti ki shayari,shayari on mitti,mitti shayari hindi,shayari on mitti in hindi,mitti shayari urdu,mitti shayari in hindi

मै मिट्टी हु, एक दिन मिट्टी में मिल जाउंगी,देख ले मेरी तरफ भी एक बार तेरे कुछ तो काम आ जाऊँगी.

Main Mitti Hu, Ek Din Mitti Mei Mil Jayogi,Dekhle Meri Taraf Bhee Ek Baar Tere Kuch To Kaam Aa Jayogi, 
Mitti Shayari in Hindi

बैठ जाता हूँ अक्सर मिट्टी पर क्योंकि मुझे अपनी औकात अच्छी लगती है; मैंने समंदर से सीखा है जीने का सलीका चुपचाप से बहना और अपनी मौज में रहना।

Baith Jatta Hu Aksar Mitti Par Kyuki Mujhe Apni Aukaat Achi Lagti Hai,Maine Samunder Se Seekha Hai Jeene Ka Saleeka Chupchap Se Behna Aur Apni Moz Mei Rehna.
Shayari On Mitti

ज़मीन पर मेरा नाम वो लिखते और मिटाते हैं,वक्त उनका तो गुजर जाता है, मिट्टी में हम मिल जाते हैं।

Jamin Par Mera Naam Likhte Aur Mitate Hain,Waqt Unka To Gujar Jata Hai, Mitti Me Hum Mil Jaate Hain.
Mitti Par Shayari

वक़्त अजीब चीज़ है वक़्त के साथ ढल गए,तुम भी बहुत करीब थे अब बहुत बदल गए।

Waqt Ajeeb Cheez Hai Waqt Ke Sath Dhal Gaye,Tum Bhi Bahut Kareeb The Ab Bahut Badal Gaye.
Mitti Ki Shayari

इतनी शिद्दत से चाहा जाएतो पत्थर भी अपने हो जाते हैंऐ खुदा..न जाने ये मिट्टी का इनसानइतना मगरूर क्यों होता है
Watan Ki Mitti Shayari

ज़माने भर में मिलते हैं आशिक कई,मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,नोटों में लिपट कर मरे हैं कई,सोने में सिमटकर मरे हैं कई,मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता।

Zamaane Bhar Mein Milte Hain Aashiq Kayi,Magar Watan Se Khoobsurat Koyi Sanam Nahi Hota,Noton Mein Lipat Kar Mare Hain Kayi,Sone Mein Simat Kar Mare Hain Kayi,Magar Tirange Se Khoobsurat Koyi Qafan Nahi Hota.

Mitti Shayari Hindi,Mitti Shayari in Hindi,Shayari On Mitti,Mitti Par Shayari,Mitti Ki Shayari,Watan Ki Mitti Shayari,meridileshayari,mere dil se shayari,