Subheh Ka Salam Shayari

Subheh Ka Salam Shayari

सुबह का सलाम भेजते है, तेरे होंठो पे अपने होंठो के निशान भेजते है,
कुबूल कर मेरे इस छोटे से तोहफे को मेरे यार, दिल से तेरी खुशी की दुआ भेजते है...।

Subah Ka Salaam Bhejate Hai, Tere Hontho Pe Apane Hontho Ke Nishaan Bhejate Hai,
Kubool Kar Mere Iss Chhote Se Tohaphe Ko Mere Yaar, Dil Se Teree Khushee Kee Dua Bhejate Hai.

सुबह सुबह आपको एक पैगाम देना है,
आपको सुबह का पहला सलाम देना है,
गुज़रे सारा दिन आपका ख़ुशी ख़ुशी,
आपकी सुबह को खूबसूरत सा नाम देना है.

Subah Subah Aapko Ek Paigam Dena Hai,
Aapko Subah Ka Pehla Salaam Dena Hai,
Gujre Saara Din Aapka Khushi Khushi,
Aapki Subah Ko KhoobSurat Sa Naam Dena Hai.

सुबह का सूरज जिसको सलाम करे,
परिंदों की आवाज़ जिसको आदाब करे,
सबको सदा खुश रखने वाला वो मालिक,
हर पल आपकी खुशियों का ख्याल करे.

Subah Ka Suraj Jisko Salam Kare,
Parindo Ki Awaz Jisko Adab Kare,
Sbko Sada Khush Rkhne Wala Wo Malik,
Har Pal Aapki Khusiyo Ka Khyal Kare.

www.meridileshayari.in