Mohobat Shayari in Hindi

मोहोबत एक खुदा की बनायीं होई अनमोल चीज़ है।  हर इंसान को मोहोबत एक न एक वार लाइफ में किसी न किसी से जरूर होती है। और मोहबत होने के बाद इंसान वैसा कबि रह जाता जैसा पहले होता है। you  are welcome to mohabat shayari in hindi#mohobat ki shayari #mohobat wali shayari#mohobat shayari image #mohobat shayari urduwww.meridileshayari.in

Mohobat Shayari in Hindi

एक मेहबूब बेपरवाह,Mohobat Shayari in Hindi
Mohobat Shayari 
एक मेहबूब बेपरवाह और...एक मोहब्बत बेपनाह,
दोनों काफ़ी है... सुकून बर्बाद करने को...!

Ek Mehboob Beparvah Aur...Ek Mahobat Beparvah,
Donno Kaffi hai...Sukun Barbaad Karne Ko...!

ना आना लेकर उसे मेरे ‪‎जनाजे‬ में
मेरी ‪मोहब्बत‬ की तौहीन होगी
‪मैं‬ चार लोगो के कंधे पर हूंगा और
मेरी ‪जान‬ पैदल होगी!

Mohobat Ki Shayari

मेरी मोहब्बत है वो कोई मज़बूरी तो नही
वो मुझे चाहे या मिल जाये, जरूरी तो नही
ये कुछ कम है कि बसा है मेरी साँसों में वो
सामने हो मेरी आँखों के जरूरी तो नही! 

रात होगी तो चाँद दुहाई देगा
ख्वाबों में आपको वह चेहरा दिखाई देगा
ये मोहब्बत है, ज़रा सोचकर करना
एक आंसू भी गिरा तो सुनाई देगा! .

दो दिलो की मोहब्बत से जलते हैं लोग
तरह-तरह की बातें तो करते हैं लोग
जब चाँद और सूरज का होता है खुलकर मिलन
तो उसे भी \सूर्य ग्रहण\ तक कहते हैं लोग!..

Mohobat Wali Shayar

इश्क का जिसको ख्वाब आ जाता है
समझो उसका वक़्त खराब आ जाता है
महबूब आये या न आये

पर तारे गिनने का तो हिसाब आ ही जाता है.
हम रूठे तो किसके भरोसे, कौन आएगा हमें मनाने के लिए
हो सकता है, तरस आ भी जाए आपको
पर दिल कहाँ से लाये, आप से रूठ जाने के लिए.

Mohobat Shayari Image

पा लूं तुझको अपनी बाँहों में इस तरह, कि हवा भी गुजरने की इजाज़त मांगे
मदहोश हो जाऊं तेरे प्यार में इस तरह, कि होश भी आने की इजाज़त मांगे.

उनसे रोज मिलने को जी चाहता है, कुछ सुनने-सुनाने को जी चाहता है,
उनके मनाने का अन्दाज है ऐसा कि आज फिर रूठ जाने को जी चाहता है

गिरा दे जितना पानी है तेरे पास ऐ बादल.
ये प्यास किसी के मिलने से बुझेगी तेरे बरसने से नही.

www.meridileshayari.in
              Mohabbat Shayari in Urdu, Mohobat Whatsapp status, Mohobat facebook status