Roothna Manana Shayari

Ruthna Shayari, Ruthna Manana Shayari, Ruthna manana Shayari in Hindi Font, Ruthna shayari in Hindi, Shayari on Ruthna, Ruthna Manana Shayari Image, Ruthna Mat Shayari in Hindi. www.meridileshayari.in 
 Roothna Manana  Shayari 
roothne ka haq bhee nahi

रूठ ने का हक़ भी छीन लिया,अब बचा ही क्या है लूटने के लिए..!

Roothne Ka Haq Bhee Sheen Liya,Abb Bachaa Hy Kya Hai Lootne Ke Liye.!

ये रूठना , मनाना अदाएँ हैं मोहब्बत कीचटपटा न हो तो खाने में मज़ा क्या है ?

अकेले में तुम्हारी याद आना अच्छा लगता हैतुम्ही से रूठना तुमको मनाना अच्छा लगता है।

रूठना अगर तुम्हारी आदत है,तो तुम्हें मनाना मेरा कर्तव्य है।तुम हजा़र बार रूठोगी,तो मैं लाखों बार मनाऊंगा….

ये झगड़ा किस बात का है..ये रूठना मनाना किस लिये है..दो पल की ज़िन्दगी है..आ हंस-बोल के काट लें..

Ruthna Shayari
www.meridileshayari.in
हर रोज़ की अब ये दास्तां हो गई..रूठना.. मनाना.. फिर रूठ जाना..!!

न रूठना आप हमसे कभी, हमें मनाना नहीं आता,चाहत कितनी है आपके लिए जताना भी नहीं आता,इंतज़ार करते हैं कब मिलेंगे आपसे,मिलने का कोई बहाना भी नहीं आता!

कितना मुश्किल है मनाना उस शख्स को ..जो रूठा भी ना हो और बात भी ना करे …

दुश्मन के सितम का खौफ नहीं हमको,हम तो दोस्तों के रूठ जाने से डरते हैं……!!

कोई अपना हमसे जब भी रूठ जाता है,ऐसा लगता साथ रब का छूट जाता है.

चाहता था मै भी तुम्हे दिल की बात सुनाना,
पर तुमने कहा आता नहीं मुझे रूठे को मनाना


Ruthna manana Shayari in Hindi Font

जाने कब जाएगी ये आदत मेरीरूठना तुमसे और औरों से उलझते रहना….

ये रूठना , मनाना अदाएँ हैं मोहब्बत कीचटपटा न हो तो खाने में मज़ा क्या है ?

ना मेरा कभी रूठना…और ना कभी तेरा मनाना…ही हम दोनों को मोहब्बतको कम कर गया ..!!

तेरा बार बार रूठना मुझे अच्छा लगता है…..।पर क्या तुझे भी मेरा मनाना अच्छा लगता है।।

रूठना अगर मुझसे तो ये जहन में रखना,मनाना आदत नही हमारी और जुदाहम रह नही सकते.

न रूठना हमसे हम मर जायेंगेदिल की दुनिया तबाह कर जायेंगेप्यार किया है हमने कोई मजाक नहींदिल की धड़कन तेरे नाम कर जायेंगे
Shayari on Ruthna

गहरी हो जाती है हर दफ़ा मुहब्बत मेरी..जाया नहीं जाता तेरा बार बार रूठना ..

तुझ से क्या रूठना ए वक्ततु लौट कर तो आऐगा ही एक दिन !

आज मुझसे पूछा किसी ने कयामत का मतलब ,और मैंने घबरा के कह दिया रूठ जाना तेरा…

बिन बात के ही रूठने की आदत हैकिसी अपने का साथ पाने की चाहत हैआप खुश रहें मेरा क्या है

मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है

Ruthna Manana Shayari Image

खफा होने से पहले खता बता देना,रुलाने से पहले हँसना सिखा देना,अगर जाना हो कभी हम से दूर आप को,तो पहले बिना साँस लिए जीना सिखा देना

चुप रहते है के कोई खफा न हो जाये,हमसे कोई रूसवा न हो जाये,बडी मुश्किल से कोई अपना बना है,डरते है की मिलने से पहले ही कोई जुदा न हो जाये…

जिस पल मे टूट जाते है सपने,उस पल मे ही रूठ जाते है अपने,हमे किसी को मनाना नही आता,शायद तभी तो हमसे रूठ जाते है अपने…

रिश्तों का विश्वास टूट ना जाए,प्यार का साथ कभी छूट ना जाए,ए खुदा गलती करने से पहले मुझे संभाल लेना,कही मेरे गलती से मेरा महबूब रूठ ना जाए…

दर्द होता नहीं दुनिया को दिखाने के लिएदर्द होता नहीं दुनिया को दिखाने के लिए,हर कोई रोता नहीं आँसू बहाने के लिए,रुठने का मज़ा तो तब आता है,
जब कोई अपना होता है मनाने के लिए…


Ruthna Mat Shayari in Hindi

राहत अपनों से मिलती हैचाहत भी अपनों से मिलती हैअपनों से कभी रूठना नहींक्योंकि मुस्कुराहट भी सिर्फ अपनों से मिलती है.


मुस्कुरा कर मिला करो हमसे,कुछ कहा और सुना करो हमसे…बात करने से ख़ुशी मिलती है हमे,रोज़ बाते किया करो हमसे…

वो एक दोस्त जो खुदा सा लगता है,बहुत पास है दिल के फिर भी जुदा सा लगता है,बहुत दिनों से आया नही कोई पैगाम उसका,शायद किसी बात पे खफा सा लगता है…

वो मेरा दोस्त जो खुदा जैसा लगता है,दिल के पास है फिर भी जुदा सा क्यों लगता है,काफी दिनों से आया नहीं कोई पैगाम उसका,शायद कोई बात पे हमसे खफा सा लगता है…

वो सोचते हैं की लडने से और बात न करने से लोग भूल जाते हैं,मगर उन्हें नहीं पता की लडने से प्यार बढता है,और बात न करने से बेचैनी बढती है…

तेरा साथ ना छूटे बस दुआ है मेरी,तेरा ख़याल ना छूटे बस दुआ है मेरी,रूठे चाहे रब मेरा मुझसे,
मेरा प्यार ना रूठे बस दुआ है मेरी…

Ruthna Manana Shayari in Urdu,Ruthne ka Haq shayari, Roothna  Shayari