Zakhmi Dil Shayari

Find the best zakhmi dil shayari and zakhmi dil shayari image. we have a nice collection of zakhmi dil Shayari hindi 140 and zakhmi dil Shayari English. Hope you will like zakhmi dil Shayari pic wallpaper and zakhmi dil Shayari Hindi. Subscribe for more upcoming zakhmi dil Shayari photos and Shayari images
Zakhmi Dil Shayari
zakhmi dil shayari, zakhmi dil shayari image, zakhmi dil shayari hindi 140, zakhmi dil shayari english, zakhmi dil shayari pic wallpaper, zakhmi dil shayari hindi, zakhmi dil shayari photo.
Zakhmi Dil Shayari
चली जाने दो उसे किसी ओर की #बाहों मे
,इतनी #चाहत के बाद जो मेरी ना हुई, वो किसी
ओर कि क्या होगी"

कितना प्यार है इस #दिल में तेरे लिए, अगर बयां कर दिया तो ....
……तू नहीं ये दुनिया मेरी #दिवानी हो जायेगी

शिकायते तुम से नही,खुद से है
मन की झूठे वादे तेरे थे!!!
पर विश्वाश तो मेरे थे!!!!

तू 👱🏻‍♀ बदनाम 😥 ना ✖ हो इसलिए 😔 जी 😇 रहा हूँ 👦🏻 अब तक,😌
वरना 😒 जान 👱🏻‍♀ तेरी 👈🏻 कसम 😓 मरने 🛌 का इरादा 🤔 तो ☝🏻रोज़ 🗓 होता है ..

अब तो किसी को #किडनी दे दूँगा।
पर #दिल कभी ना दूंगा!!!""

आखिर कैसे छोड दू .......
तुझसे मोहब्बत करना
तू किस्मत मे ना सही
पर दिल मे तो है ..!!!

चाहत टूटी तो #ज़िन्दगी बिखर जाएगी,
ये ज़ुल्फ़ नहीं है जो हर बार संवर जाएगी,
थाम लो #दामन उसका जो तुम्हे #खशी दे,
वरना रो रो कर तो सारी #उम्र गुज़र जाएगी.

वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे!
दुनिया में हम खुश नसीब होंगे!
दूर से जब इतना याद करते है आपको!
क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे?

जरूर कोई तो लिखता होगा.
#कागज और #पत्थर का भी नसीब..
*वरना ये मुमकिन नहीं की...*
*कोई पत्थर ठोकर खाये और कोई पत्थर #भगवान बन जाये...* *और
*कोई कागज रद्दी और कोई कागज गीता बन जाये"

स्वयं से #दूर हो तुम भी, स्वयं से #दूर हैं हम भी
बड़े #मग़रूर हो तुम भी, बड़े #मग़रूर हैं हम भी
Zakhmi Dil Shayari images,zakhmi dil shayari pic wallpaper, zakhmi dil shayari photo, zakhmi dil shayari photo download, zakhmi dil shayari image in hindi, jakhmi dil shayari image download, zakhmi dil shayari image hd.
जख़्म इतना गहरा हैं इज़हार क्या करें।
हम ख़ुद निशां बन गये ओरो का क्या करें।
मर गए हम मगर खुली रही आँखे हमारी।
क्योंकि हमारी आँखों को उनका इंतज़ार हैं।

Zakham Itna gehra hai intzaar kya kare.
Hum khud nishah bann gaye auro ka kya kare.
Mar gaye hum magar khuli rahi ankhe hamari.
Kyuki hamari ankho ko  unka intzaar hai.


हाथ ज़ख़्मी हुए तो कुछ अपनी ही खता थी..
लकीरों को मिटाना चाहा किसी को पाने की खातिर .

Hath zakhmi huye toe kuch apni hy khatah thi..
Lakeero ko mitana chaha kisi ko panne ki khatir.

नमक तुम हाथ में लेकर, सितमगर सोचते क्या हो,,
हजारों जख्म है दिल पर, जहाँ चाहो छिड़क डालो.

Namak tum hath mai lekar, sitmgar sochte kya ho,
Hazaro zakham hai dil par, yaha chaho shidak dalo.

Zakhmi Dil Shayari Video

www.meridileshayari.in

You Might Also Like

0 Comments