Aarzoo shayari in hindi

Aarzoo shayari in hindi !! Aarzoo shayari hindi !!
Meri aarzoo shayari !! Aarzoo shayari picture !! 
Aarzoo shayari in urdu !! Aarzoo shayari urdu !! Aarzoo shayari 2 lines !!
www.meridileshayari.in
💐❤Aarzoo shayari in hindi❤💐
आरजू  हंमे  वी बोहोत थी उनसे बफा की
मगर बफा करना उनकी फितरत मे नहीं था
गिल्ला करे वी तो किस से
गिल्ला करने के लिए वी तो कोई अपना होना चाहिए !
Aarjoo Humme Vi Bohot Thi
Aarzoo shayari in hindi
उलझी सी ज़िन्दगी को सवारने की आरजू में बैठे हैं
कोई अपना दिख जाए शायद उसे पुकारने को बैठे है!!

आँखो की चमक पलकों की शान हो तुम..
चेहरे की हँसी लबों की मुस्कान हो तुम…..!!
धड़कता है दिल बस तुम्हारी आरज़ू मे…
फिर कैसे ना कहूँ मेरी जान हो तुम..!!

आज ..खुद को तुझमे डुबोने की आरज़ू है।
क़यामत तक सिर्फ तेरा होने की आरज़ू है।
किसने कहा गले से लगा ले मुझको, मग़र
तेरी गोद में सर रखकर सोने की आरज़ू है।

तेरे‬ इश्क का कितना हसीन एहसास है,
लगता है जैसे तु हर ‪ पल‬ मेरे पास है,
 मोहब्बत‬ तेरी दिवानगी बन चुकी है मेरी,
और अब जिन्दगी की ‪ आरजू‬ बस तुम्हारे साथ है ।।
www.meridileshayari.in
💐❤Aarzoo shayari hindi❤💐

हर जज्बात को जुबान नहीं मिलती.
हर आरजू को दुआ नहीं मिलती.
मुस्कान बनाये रखो तो साथ है दुनिया..
वर्ना आंसुओ को तो आंखो मे भी पनाह नहीं मिलती.

काश की मुझे मुहब्बत ना होती
काश की मुझे तेरी आरज़ू ना होती
जी लेते यू ही ज़िंदगी को हम तेरे बिन
काश की ये तड़प हमे ना होती.

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है,
खामोशियो की आदत हो गयी है,
न सीकवा रहा न शिकायत किसी से,
अगर है तो एक मोहब्बत,
जो इन तन्हाइयों से हो गई है..!

💐❤Meri aarzoo shayari❤💐


आरज़ू ये नहीं कि ग़म का तूफ़ान टल जाये,
फ़िक्र तो ये है कि कहीं आपका दिल न बदल जाये.
कभी मुझको अगर भुलाना चाहो तो,
दर्द इतना देना कि मेरा दम ही निकल जाये.

तेरा ख़याल तेरी आरजू न गयी !
मेरे दिल से तेरी जुस्तजू न गयी !!
इश्क में सब कुछ लुटा दिया हँसकर मैंने !
मगर तेरे प्यार की आरजू न गयी.

यह आरजू नहीं कि किसी को भुलाएं हम;
न तमन्ना है कि किसी को रुलाएं हम;
जिसको जितना याद करते हैं;
उसे भी उतना याद आयें हम.

💐❤Aarzoo shayari picture❤💐


आरज़ू होनी चाहिए किसी को याद करने की.
लम्हें तो अपने आप ही मिल जाते हैं.
कौन पूछता है पिंजरे में बंद पंछियों को..
याद वही आते है जो उड़ जाते है.

ये हवा, ये रात ये चाँदनी
तेरी एक अदा पे निसार हैं
मुझे क्यों ना हो तेरी आरजू
तेरी जुस्तजू में बहार है.

मैं पागल ही सही मगर मैं वो हूँ
जो तेरी हर आरजू के लिये टूट जाऊँ .

💐❤Aarzoo shayari in urdu❤💐


“जीने की आरज़ू है,
तो जी चट्टानों की तरह…
वरना पत्तों की तरह,
तुझको हवा ले जायेगी”.

यह रंज-ओ-ग़म कि सियाही जो दिल पे छाई हैं
तेरी नज़र कि शुआओं मैं खो भी सकती थी।

न कोई राह, न मंजिल, न रौशनी का सुराग
भटक रहीं है अंधेरों मै ज़िंदगी मेरी.
इन्ही अंधेरों मैं रह जाऊँगा कभी खो कर
मैं जानता हूँ मेरी हम-नफस, मगर यूंही
कभी कभी मेरे दिल मैं ख्याल आता है.

💐❤Aarzoo shayari 2 lines❤💐


छोड दी हमने हमेशा के लिए उसकी आरजू करना..
जिसे मोहब्बत की कद्र ना हो उसे दुआओ मेक्या मांगना.

अब तुझसे शिकायत करना, मेरे हक मे नहीं,
क्योंकि तू आरजू मेरी थी,पर अमानत शायद किसी और की !!

ना जी भर के देखा न कुछ बात की़…
बङी आरजु थी मुलाकात की…

तुझसे मिले न थे तो कोई आरजू न थी…
देखा तुम्हें तो तेरे तलबगार हो गये…



Aarzoo shayari in hindi Aarzoo shayari in hindi Reviewed by samajayakya.co.in on May 14, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.