Sad Shayari in Hindi for Love Bewafa

Get the best sad Shayari in Hindi for love bewafa and sad Shayari in Hindi for love bewafa 2 line. we have a good collection on Sad Shayari in Hindi for love bewafa download and sad Shayari in Hindi for love bewafa images. If you like sad Shayari in Hindi for love bewafa images download and very sad bewafa Shayari in Hindi for love then share Sad Shayari in Hindi for love bewafa SMS on whatsapp and facebook.
Sad Shayari in Hindi for Love Bewafa
Sad Shayari in Hindi for Love Bewafa, best sad Shayari in Hindi for love bewafa, sad Shayari in Hindi for love bewafa 2 line,collection on Sad Shayari in Hindi for love bewafa download,sad Shayari in Hindi for love bewafa images,sad Shayari in Hindi for love bewafa images download,very sad bewafa Shayari in Hindi for love,Sad Shayari in Hindi for love bewafa SMS on whatsap and facebook,Sad Shayari in Hindi for love bewafa download
Sad Shayari in Hindi for Love Bewafa
Bewafa To Khud Hai,Par Ilzaam Kisi Aur Ko Dete Hain,Pahle Naam Tha Mera Unke Labo Par,Ab Wo Naam Kisi Aur Ka Lete Hain.
बेवफा तो वो खुद हैं,पर इल्ज़ाम किसी और को देते हैं,पहले नाम था मेरा उनके लबों पर,अब वो नाम किसी और का लेते हैं।
Teri Wafa Ke Takaaje Badal Gaye Varna,Mujhe To Aaj Bhi Tujhse Azeez Koi Nahi.
तेरी वफ़ा के तकाजे बदल गये वरना,मुझे तो आज भी तुझसे अजीज कोई नहीं।
Na Jane Kya Soch Kar Lahre Sahil Se Takrati Hain,Aur Fir Samandar Me Laut Aati Hain,Samajh Nahi Aata Ki Kinaron Se Bewafai Karti Hain,Ya Fir Laut Kar Samandar Se Wafa Nibhati Hain.
ना जाने क्या सोच कर लहरें साहिल से टकराती हैं,और फिर समंदर में लौट जाती हैं,समझ नहीं आता कि किनारों से बेवफाई करती हैं,या फिर लौट कर समंदर से वफ़ा निभाती हैं।
Na Milta Gham To Barbadi Ke Afsane Kahan Jaate,Duniya Agar Hoti Chaman To Veeraane Kahan Jaate,Chalo Accha Hua Apno Me Koi Gair To Nikla,Sabhi Agar Apne Hote To Begane Kahan Jaate,
ना मिलता गम तो बर्बादी के अफसाने कहाँ जाते,दुनिया अगर होती चमन तो वीराने कहाँ जाते,चलो अच्छा हुआ अपनों में कोई ग़ैर तो निकला,सभी अगर अपने होते तो बेगाने कहाँ जाते।
Meri Talash Ka Jurm Hai Ya Meri Wafa Ka Kasoor,Jo Dil Ke Kareeb Aaya Bahi Bewafa Nikla.
मेरी तलाश का जुर्म है या मेरी वफा का क़सूर,जो दिल के करीब आया वही बेवफा निकला।
Wo Paani Ki Lahron Par Kya Likh Raha Tha,Khuda Jaane Haraf-E-Duaa Likh Raha Tha,Mohobbat Me Mili Thi Bewafai Use Bhi Sayed,Isliye Har Shakhs Ko Bewafa Likh Raha Tha.
वो पानी की लहरों पे क्या लिख रहा था,खुदा जाने हरफ-ऐ-दुआ लिख रहा था,महोब्बत में मिली थी बेवफाई उसे भी शायद,इसलिए हर शख्स को शायद बेवफा लिख रहा था।
 Wo Jise Samjhti Thi Zindagi, Meri Dharkano Ka Fareb ThaMujhe Muskurana Sikha Ke Wo Meri Rooh Tak Rula Gayi,
वो जिसे समझती थी ज़िन्दगी, मेरी धड़कनो का फरेब था,मुझे मुस्कुराना सिखा के, वो मेरी रूह तक रुला गयी।
Do Dilo Ki Dhadkano Ne Ek Saaz Hota Hai,Sabko Apni Apni Mohabbat Par Naaz Hota Hai,Usme Se Har Ek Bewafa Nahi Hota,Uski Bewafai Ke Peechhe Bhi Koi Raaz Hota Hai.
दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है,सबको अपनी-अपनी मोहब्बत पर नाज़ होता है,उसमें से हर एक बेवफा नहीं होता,उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है।
Bewafaon Ki Iss Duniya Me Sambhal Kar Chalna,Yehan Mohabbat Se Bhi Barbaad Kar Dete Hain Log.
बेवफाओं की इस दुनिया में संभल कर चलना,यहाँ मोहब्बत से भी बरबाद कर देतें हैं लोग।
Ek Khushi Ki Chah Me Har Khushi Se Door Huye Hum,Kisi Se Kuch Kah Bhi Na Sake Itne Majboor Huye Hum,Na Aayi Unhe Nibhani Wafa Is Daur-E-Ishq Me,Aur Jamane Ki Najar Me Bewafa Ke Naam Se Mashoor Huye Hum.
एक ख़ुशी की चाह में हर ख़ुशी से दूर हुए हम,किसी से कुछ कह भी ना सके इतने मज़बूर हुए हम,ना आई उन्हें निभानी वफ़ा इस दौर-ए-इश्क़ में,और ज़माने की नज़र में बेवफ़ा के नाम से मशहूर हुए हम।
Shayari Nahi Aati Mujhe Bas Haale Dil Suna Rahin Hun,Bewafai Ka Ilzaam Hai, Mujh Par Phir Bhi Gun Guna Rahi Hun,Katal Karne Wale Ne Katil Bhi Hume Hi Bana Diya,Khafa Nahi Usse Fir Bhi Main Bas Uska Daman Bacha Rahi Hun.
शायरी नहीं आती मुझे बस हाले दिल सुना रही हूँ,बेवफ़ाई का इलज़ाम है, मुझपर फिर भी गुनगुना रही हूँ,क़त्ल करने वाले ने कातिल भी हमें ही बना दिया,खफ़ा नहीं उससे फिर भी मैं बस, उसका दामन बचा रही हूँ।
Na Chhed Kissa Wo Mohabbat KaBadi Lambi Kahani Hai,Main Zindagi Se Nahi HaaraKisi Ki Meharbani Hai.
ना छेड़ किस्सा वो मोहब्बत काबड़ी लम्बी कहानी है,मैं ज़िन्दगी से नहीं हाराकिसी की मेहरबानी है।
Teri Chokhat Se Sar Uthhau To Bewafa Kehna,Tere Siwa Kisi Aur Ko Chahu To Bewafa Kehna,Meri Wafaon Pe Shaq Hai To Khanzar Utha Lena,Main Shauq Se Na Mar Jayun To Bewafa Kehna.
तेरी चौखट से सर उठाऊँ तो बेवफा कहना,तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना,मेरी बफओं पे सक है तो खंजर उठा लेना,मै शौक से ना मर जाऊं तो बेवफा कहना।
Har Bhool Teri Maaf Ki Teri Har Khata Ko Bhula Diya,Gam Hai Ki Mere Pyar Ka Tu Ne Bewafai Sila Diya.
हर भूल तेरी माफ की तेरी हर खता को भुला दिया,गम है की मेरे प्यार का तू ने बेवफाई सिला दिया।
Zindagi Se Bas Yahi Ek Gila Hai,Khushi Ke Baad Na Jaane Kyu Gham Mila Hai,Humne To Ki Thi Wafa Unse Jee Bhar Ke,Par Nahin Jante The Wafa Ke Badle Bewafai Hi Sila Hai.
ज़िंदगी से बस यही एक गिला है,ख़ुशी के बाद न जाने क्यों गम मिला है,हमने तो की थी वफ़ा उनसे जी भर के,पर नहीं जानते थे कि वफ़ा के बदले बेवफाई ही सिला है।
Ek Bewafa Ke Jakhmo Par Mmarhum Lagane Hum Gaye,Marhum Ki Kasam Marhum Na Mila Murhum Ki Jagah Mar Humm Gaye.
एक बेवफा के ज़ख्मों पर मरहम लगाने हम गए,मरहम की कसम मरहम न मिला मरहम की जगह मर हम गए।
Maine Kaha Chhod Do Ya Torh Do,Wo Bewafa Hans Kar Boli,"Itna Nayab Tohfa Roj Roj Nahi Milta
मैंने कहा मुझे छोड़ दो या तोड़ दो,वो बेवफ़ा हँस के बोली,"इतने नायाब तोहफ़े रोज़-रोज़ नहीं मिला करते।
Kabhi Kareeb To Kabhi Juda Hai Tu,Jaane Kis Kis Se Khafa Hai Tu,Mujhe To Tujh Par Khud Se Jyada Yakeen Tha,Par Zamana Sach Hi Kahta Tha Ki Bewafa Hai Tu.
कभी करीब तो कभी जुदा है तू,जाने किस-किस से खफा है तू,मुझे तो तुझ पर खुद से ज्यादा यकीं था,पर ज़माना सच ही कहता था कि बेवफ़ा है तू।
Jeene Ki Tamnna Bachi Kahan Hai,Bhulaya Jo Hai Hume Apne,Yeh To Bewafai Ki Had Hi Hai,Jise Paar Kiya Tha Humne.
जीने की तमन्ना बची कहाँ है,भुलाया जो है हमें आपने,यह तो बेवफ़ाई की हद ही है,जिसे पार किया था हमने।
Bewafa Shayari in Hindi for Love  2 Bewafa Shayri in Hindi Download Bewafa Shayari in Hindi for Girlfriend 4 Bewafa Shayari in Hindi for You 5 Bewafa Shayari in Urdu Facebook 

You Might Also Like

0 Comments