Dard Bhari Shayari

Find the Top Dard bhari shayari,dard bhari shayari image,dard bhari shayari in hindi,dard bhari shayari photo,dard bhari shayari download, dard bhari shayari video,dard bhari shayari wallpaper Dard Hindi Shayari,dard shayari, Sad Shayari,dard shayari hindi, Bahut se life mei modd ate hai jab hum dukhi hote hai , dard shayari aapko apne dil ki baat ek kavita ke roop mei kehne ki kala deti hai. Dil Shayari #dard bhari shayari#dard bhari shayari in hindi#dard bhari shayari image#dard bhari shayari photo#dard bhari shayari in hindi 140#dard bhari shayari video.www.meridileshayari.in

Dard Bhari Shayari
Dard bhari shayari,dard bhari shayari image,dard bhari shayari in hindi,dard bhari shayari photo,dard bhari shayari download,dard bhari shayari video,dard bhari shayari wallpaper
Dard Bhari Shayari
दिल टूट रहा है,दर्द हो रहा है,जाने क्या अब महसूस हो रहा है,काश कोई हो जो संभाले मुझेये कहना अब फ़िज़ूल हो रहा हे.
Dil toot raha hai,Dard ho raha hai,Jaane kya -kya mehsoos ho raha hai,Kash koi ho Jo sambhale mujhe,Ye kehna ab fizool ho raha hai.
दर्द किसी के चले जाने से नहीं,किसी के आने से महसूस होता हे..चाहे इंसान जैसा भी हो,कभी न कभी मजबूर होता है.
Dard kisi ke chale jane se nahi,Kisi ke aane se mehsoos hota hai.Chahe insaan jaisa bhee ho,Kabhi na kabhi mazboor hota hai.
चीज़ बेवफ़ाई से बढ़कर क्या होगी;ग़म-ए-हालात जुदाई से बढ़कर क्या होगी;जिसे देनी हो सज़ा उम्र भर के लिए;सज़ा तन्हाई से बढ़कर क्या होगी।
रोते रहे तुम भी, रोते रहे हम भी;कहते रहे तुम भी और कहते रहे हम भी;ना जाने इस ज़माने को हमारे इश्क़ से क्या नाराज़गी थी;बस समझाते रहे तुम भी और समझाते रहे हम भी।
ज़रा सी ज़िंदगी है, अरमान बहुत हैं;हमदर्द नहीं कोई, इंसान बहुत हैं;दिल के दर्द सुनाएं तो किसको;जो दिल के करीब है, वो अनजान बहुत है!
दिल की हालात बताई नहीं जाती;हमसे उनकी चाहत छुपाई नहीं जाती;बस एक याद बची है उनके चले जाने के बाद;हमसे तो वो याद भी दिल से निकाली नहीं जाती।
वो देता है दर्द बस हमी को;क्या समझेगा वो इन आँखों की नमी को;​चाहने वालों की भीड़ से घिरा है जो हर वक़्त;वो महसूस ​क्या ​करेगा ​बस ​एक हमारी कमी को। ​
जहाँ खामोश फिजा थी, साया भी न था;हमसा कोई किस जुर्म में आया भी न था!न जाने क्यों छिनी गई हमसे हंसी;हमने तो किसी का दिल दुखाया भी न था!
एक पल में ज़िन्दगी भर की उदासी दे गया;वो जुदा होते हुए कुछ फूल बासी दे गया;नोच कर शाखों के तन से खुश्क पत्तों का लिबास;ज़र्द मौसम बाँझ रुत को बे-लिबासी दे गया।
ग़म के दरियाओं से मिलकर बना है यह सागर;आप क्यों इसमें समाने की कोशिश करते हो;कुछ नहीं है और इस जीवन में दर्द के सिवा;आप क्यों इस ज़िंदगी में आने की कोशिश करते हो।
मेरे दिल में न आओ वरना डूब जाओगे;ग़म-ए-अश्कों के सिवा कुछ भी नहीं अंदर;अगर एक बार रिसने लगा जो पानी;तो कम पड़ जायेगा भरने के लिए समंदर।
साँस थम जाती है पर जान नहीं जाती;दर्द होता है पर आवाज़ नहीं आती;अजीब लोग हैं इस ज़माने में ऐ दोस्त;कोई भूल नहीं पाता और किसी को याद नहीं आती।
“जिंदगी देने वाले,मरता छोड़ गये,अपनापन जताने वाले तन्हा छोड़ गये,जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की,वो जो साथ चलने वाले, रास्ता मोड़ गये.”
“गुनाह करके सज़ा से डरते हैं,जहर पी के दवा से डरते हैं,दुश्मनों के सितम का खौफ नहीं,हम तो दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं.”
“ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक हैं,तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक हैं,वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक हैं.”
“दिल को हमसे चुराया आपने,दूर होकर भी अपना बनाया आपने,कभी भूल नहीं पायेंगे हम आपको,क्योंकि याद रखना भी तो सिखाया आपने.”
“हर सागर के दो किनारे होते है,कुछ लोग जान से भी प्यारे होते है,ये ज़रूरी नहीं हर कोई पास हो,क्योंकी जिंदगी में यादों के भी सहारे होते है.”
“याद करते है तुम्हे तनहाई में,दिल डूबा है गमो की गहराई में,हमें मत धुन्ड़ना दुनिया की भीड़ में,हम मिलेंगे में तुम्हे तुम्हारी परछाई में.
“दर्द को दर्द से न देखो,दर्द को भी दर्द होता है,दर्द को ज़रूरत है दोस्त की,आखिर दोस्त ही दर्द में हमदर्द होता है”
“हमें न मोहब्बत मिली, न प्यार मिला,हमको जो भी मिला बेवफा यार मिला,अपनी तो बन गई तमाशा जिंदगी,हर कोई अपने मकसद का तलबगार मिला.”
“आंसू से पलके भींगा लेता था,याद तेरी आती थी तो रो लेता था,सोचा था की भुला दूँ तुझको मगर,हर बार ये फैसला बदल लेता था.”
“तन्हाई का उसने मंज़र नहीं देखा,अफ़सोस की मेरे दिल के अन्दर नहीं देखा,दिल टूटने का दर्द वो क्या जाने……,वो लम्हा उसने कभी जी कर नहीं देखा.”
“उनकी तस्वीर को सिने से लगा लेते हैं,इस तरह जुदाई का गम मिटा देते हैं,किसी तरह कभी उनका जिक्र हो जाये तो,भींगी पलकों को हम झुका लेते हैं.”
“हर बार मुझे जख्म ए दिल ना दिया कर,तू मेरी नहीं तो मुझे दिखाई ना दिया कर,सच-झूठ तेरी आँखों से हो जाता हैं जाहिर,क़समें ना खा, इतनी सफाई ना दिया कर.”
जिंदगी के रंग कितने निराले हैं,साथ देने वाला हर कोई है लेकिन हम अकेले हैं,पानी है मंजिल हमें मगर रास्तों में रुकावटे हैं,खुशियों में सब साथ हैं, गमों में सब पराये हैं.”
“बेताब सा रहते हैं तेरी याद में अक्सर,रात भर नहीं सोते हैं तेरी याद में अक्सर,जिस्म में दर्द का बहाना बना के…..,हम टूट के रोते हैं तेरी याद में अक्सर.”
“आप आँखों से दूर दिल के करीब थे,हम आपके और आप हमारे नसीब थे,न हम मिल सके, न जुदा हुवे……,रिश्ते हम दोनों के कितने अजीब थे.”
“क्या करूँगा उसका इंतज़ार कर के,जब चली गई वो मुझे बर्बाद कर के,सोचा था अपना भी एक जहाँ होगा,मगर मिली सिर्फ तन्हाई उनसे प्यार कर के.”
“हर सपना किसी का पूरा नहीं होता,कोई किसी के बिना अधुरा नहीं होता,जो रौशन करता हैं सब रातों को….,वो चाँद भी तो हर रात पूरा नहीं होता.”
“आज हम भी एक नेक काम कर आए,दिल की वसीयत किसी के नाम कर आए,प्यार हैं उनसे ये जानते हैं वो……,मज़बूरी थी जो झुकी नज़रों से इनकार कर आए.”
“दिल यूँना कभी उदास होता,जो कोई अपना हमारे पास होता,यूँ तो हमने साथ दिया अक्सर अपनों का,पर काश किसी को हमारी तन्हाई का एहसास होता.”
“यादें होती हैं सताने के लिए,कोई रूठता हैं फिर मनाने के लिए,रिश्ता बनाना कोई मुस्किल तो नहीं,
बस जान चली जाती हैं उसे निभाने के लिए.”
“कहाँ वफा का सिला देते हैं लोग,अब तो मोहब्बत की सजा देते हैं लोग,पहले सजाते हैं दिलो में चाहतों का ख्वाब,फिर ऐतबार को आग लगा देते हैं लोग.”
“मेरी उजरी दुनियाँ को तू आबाद न कर,बीते लम्हों को तू फिर से याद न कर,एक कैद परिंदे का हैं तुमसे यही कहना…,मैं भूल चूका हूँ उरना मुझे फिर से आज़ाद न कर.”
“झुकी हुई पलकों से उनका दीदार किया,सब कुछ भुला के उनका इंतज़ार किया,वो जान ही न पाई जजबात मेरे…..,जिसे दुनियाँ में मैंने सबसे ज्यादा प्यार किया.”
“पत्थरों से प्यार किया नादान थे हम,गलती हुई क्योकि इंशान थे हम….,आज जिन्हें नज़रें मिलाने में तकलीफ होती हैं,कभी उसी सक्स की जान थे हम…..”
“ऐसा भी नहीं की उससे मिला दे कोई,कैसी हैं वो बस इतना बता दे कोई….,सुखी हैं बरी देर से पलकों की जुवा,आज की रात तो जी भर के रुला दे कोई.”
“क्यों बनाया मुझको आए बनाने वाले,बहुत गम देते हैं ये जमाने वाले….,मैंने आग के उजालों में कुछ चेहरों को देखा,मेरे अपने ही थे मेरे घर जलाने वाले.”
“अपने दिल को अगर दुखाना हैं,बहारों में अगर घर जलाना हैं….,प्यार करो एक बेवफा से,अगर मोहब्बत को आजमाना हैं.”
“दर्द होता नही दुनियाँ को दिखाने के लिए,हर कोई रोता नही आँसू बहाने के लिए,रूठने का मज़ा तो तब आता हैं दोस्तों…,जब अपना हो कोई मनाने के लिए….”
“हर पल दिल को बहला लेता हूँ,तन्हाई में खुद को ही दोस्त बना लेता हूँ,याद उनको करके मुस्कुरा लेता हूँ,गुजरे लम्हों को फिर करीब बुला लेता हूँ.”
“कल रात वो मिली ख्वाब में,हम ने पूछा क्यों ठुकराया आपने,जब देखा तो उनकी आँखों में भी आँसू थे,फिर कैसे पूछता क्यों रुलाया आपने.”
“हम अपना दर्द किसी को कहते नही,वो सोचते हैं की हम तन्हाई सहते नही,आँखों से आँसू निकले भी तो कैसे,क्योकि सूखे हुवे दरिया कभी बहते नही.”
“एक कसक दिल में दबी रह गई,जिंदगी में उनकी कमी रह गई…,इतनी उल्फत के बाद भी वो मुझे न मिली,शायद मेरी किस्मत में ही कुछ कमी रह गई.”
“दर्द जब आंसुओं में ढल जाएमेरी आँखों में आके बह जानाभूल कर काश –म –कश ज़माने की मेरी बाहों में आके रह जाना..”
“नदी जब किनारा छोर देती हैं,राह की चट्टान तक तोर देती हैं,बात छोटी सी अगर चुभ जाए दिल में तो,जिंदगी के रास्तों को भी मोर देती हैं.”
“दूर तक तन्हाई का सफर हैं,न कोई साथी न हमसफर हैं,चलते हैं दिल के सहारे ये सोच कर,की अगले ही मोड़ पे खुशियों का सहर हैं.”
“उसके चले जाने के बाद हम महोबत नहीं करते किसी से .छोटी सी जिन्दगी है .किस किस को अजमाते रहेंगे.”
“दर्द की दास्ताँ अभी बाकी है,महोबत का इम्तेहान अभी अभी बाकी है,दिल करे तो फिर से वफ़ा करने आ जाना,दिल ही तो टुटा है,जान अभी बाकी है..”
“मुद्तों के बाद उसको किसी के साथ खुश देखा तो एहसास हुआ …काश की उसको बहुत पहले हे छोड़ दिया होता ….”
“साथ नहीं रहने से रिश्ते नहीं टुटा करते वक़्त की धुंध से लम्हे नहीं टुटा करते लोग कहते हे मेरा सपना टूट गयाटूटी नींद है सपने नहीं टुटा करते.”
“दर्द ज़ाहिर कभी करने नहीं देता मुझकोअश्क आंखों में भी भरने नहीं देता मुझकोजानता हूँ,कि मैं अब टूट चुका हूँ लेकिनवो तो इक शख्स बिखरने नहीं देता मुझको.”
Dard Bhari Shayari Video
www.meridileshayari.in

Dard bhari shayari, dard bhari shayari in hindi for girlfriend, dard bhari shayari hindi mai, dard bhari shayari in hindi 140,dard bhari shayari in hindi 160,dard bhari shayari on love in hindi